Sahitya Sangeet

Literature Is The Almighty & Music Is Meditation

क्यों (Why But)

 

 

 

बाग़बान ,


तुम्हारे प्राचीन बाग़ का एक पौधा -----


जिसे ;


तुम्हारे चले जाने का दुःख तो नहीं , मगर


अफ़सोस जरूर है ,


एक सवाल करता है ?


एक बाग को सवांरने में , तुमने अपनी


ज़िन्दगी का एक बड़ा हिस्सा ,


गंवा दिया। वक़्त आया जब , उस बाग़ का ,


हार पौधा सर उठा सके , तुमने


दुसरे ही बाग़ की बागबानी -----


अख्तियार कार ली।।।


उस बाग़ में पौधे रोपकर ,


पहले बाग़ का एक पौधा , जो तुम्हारी ----


बागबानी से घबराकर बिखर गया था ,


तुमने उसे , दुसरे बाग़ में , रोपने की कोशिश ;;;


की। --- और चुपचाप चले गए।।


क्यों ? खिलवाड़ की तुमने दो -दो बागों के ;;


जीवन से ?


जवाब कहीं से भी दो , यह पौधा -----


सुन लेगा , जी लेगा ,


और मर भी लेगा।।।।।।
---------

 

(NEVER EVER DESERT THEM, WHO LOVE YOU. NEVER EVER DESERT THEM WHO  DEPEND UPON YOU. YOUR CONSCIOUS WILL NOT LET YOU LIVE IN PEACE.)

By Rabindranath Banerjee(Ranjan)